Breaking News
  • चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट में आज चार नए जजों को दिलाई शपथ
  • ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम की सफलता पर भड़का पाकिस्तान
  • आर्मी चीफ बिपिन रावत का बयान, पाकिस्तान ने बालाकोट में आतंकी कैंपों को फिर से सक्रिय कर दिया है
  • गृह मंत्री ने कहा कि कहा कि 2021 की जनगणना में मोबाइल एप का प्रयोग होगा

तो कैप्टन से नाराज गुरु ने ठोक ही दिया....

नोएडा: सिकंदर हालात के आगे नहीं झुकता, तारा टूट भी जाये जमीन पर आकर नहीं गिरता, गिरते है हजारो दरिया समंदर में, पर कोई समंदर किसी दरिया में नहीं गिरता… तो ये सब सिर्फ कहने के लिए है, हकीकत में इनका सिद्धू से कोई वास्ता नही। समंदर किसी दरिया में नहीं गिरता लेकिन एक समय में सियासत के सिकंदर रहे नवजोत सिंह सिद्धू आज हासिये पर चल रहे हैं। बीजेपी में फीलगुड नहीं होने के कारण सिद्धू ने उसी समंदर में गोता लगाया था, जिसे वह कई मौके पर विषैला बता चुके थे, लेकिन कांग्रेस से भी सिद्धू का मोह भंग हो रहा है। कह नहीं सकते कब होगा? लेकिन सिद्धू ने सिगनल दे दिया है!

क्रिकेटर से राजनेता बने सिद्धू और कैप्टन के बीच जारी तकरार इतना आगे निकल गया कि गुरु ने मंत्री पद से इस्तीफा ठोक दिया, हालांकि इन दिनों कांग्रेस के लिए इस्तीफा तो नास्ते और डीनर की तरह है। सुबह अध्यक्ष तो शाम को मंत्री और रात होते-होते कुछ और नेताओं का लगातार विकेट गिरता जा रहा है। हालांकि सिद्धू कहते हैं कि उन्होंने 10 जून को ही इस्तीफा दे दिया है, तो घोषाणा आज क्यों, क्या आज इस्तीफे के लिए सबसे शुभ दिन है।

कैप्टन सीएम और खिलाड़ी मंत्री के बीच तकरार नई नहीं है, बल्कि लोकसभा के बाद से ही दोनों का सियासी मैच दर्शकों को रोमांचित करता रहा है। ये रोमांच भी उसी मैच का हिस्सा है, जिसमे पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी क्लीन बोल्ड हो चुके है, लेकिन पंजाब की 13 में से 8 सीटे जीतने के बाद भी कांग्रेस हारी हुई महसूस कर रही है।

loading...