Breaking News
  • आज होंगे लोकसभा अध्यक्ष के चुनाव
  • चमकी बुखार को लेकर झारखंड और मध्य प्रदेश में अलर्ट, बिहार में मरनेवालों की संख्या 119 पार
  • WC 2019 : आज बर्मिंघम में भिड़ेंगे NZ और SA
  • 49 के हुए कांग्रेस के लाड़ले राहुल, पीएम मोदी ने दी बधाई

अमेठी में राहुल की हार का बदला मौत से... स्मृति ईरानी के करीबी को घर के बाहर ही ठोका

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 के पहले से शुरू हुआ हिंसक खबरों का सिलसिला चुनाव खत्म होने के बाद भी जारी है। बीते करीब सवा महीने के चुनावी माहौल में बंगाल, बिहार, यूपी, पंजाब समेत अन्य कई जगहों से हिंसा की खबरें आती रही। राजनीतिक गुंडों के सामने पुलिस-प्रशासन और चुनाव आयोग की सारी व्यवस्थाएं धरी की धरी रह गई।

वहीं चुनावी नतीजों के तीसरी रात, अमेठी से बीजेपी सांसद स्मृति ईरानी के करीबी कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई। चुनाव खत्म होने के चंद रोज बाद ही घटी इस घटना से पूरे इलाके में हड़कंप की स्थिति बनी हुई है। लोगों के बीच दहशत का माहौल दिख रहा है। निहत्थे लोगों को इस बात की चिंता सता रही है कि पता नहीं कब कौन किधर से आकर ठोक जाए।

मृतक की पहचान पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह के तौर पर बताई जा रही है। जो हालिया चुनाव में कई मौके पर बीजेपी उम्मीदवार स्मृति ईरानी के दाये-बयें दिख रहे थे। कहा जाता है कि अमेठी में कांग्रेस के किले पर भगवा झंडा फहराने की राह में सुरेंद्र सिंह हर कदम पर स्मृति ईरानी के साथ दिखे। पहली नजर में हत्या का कारण चुनावी रंजिश दिख रहा है।

दरअसल, उत्तर प्रदेश का अमेठी संसदीय क्षेत्र कांग्रेस पार्टी की पुश्तैनी सीट रही है। जहां से तीन बार लगातार सासंद चुने गए राहुल गांधी को चौथी बार 2019 में करारी हार का स्वाद चखना पड़ा। कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी जिस अमेठी को अपना घर और यहां के लोगों को परिवार मानते थे। उसी अमेठी मैं अध्यक्ष के अधर में जाने से नारज पूरी कांग्रेस पार्टी में खलबली मची है।

आरोप है कि अमेठी में राहुल की हार कई लोगो को नागवार गुजरा। लिहाज अब हारे हुए लोग, हार का कारण तलाश रहे हैं। हालांकि सुरेंद्र सिंह की हत्या के पीछे पुरानी रंजिश की आशंका भी जताई गई है। लेकिन फिलहाल मामले पर पूरी स्थिति स्पष्ट नहीं हो सकी है। मिली जानकारी के अनुसार यह घटना उस वक्त घटी जब सुरेंद्र सिंह जीत का जश्न मनाकर घर लौटे थे। इसी बीच कुछ अज्ञात बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी।

मिली जानकारी के अनुसार सुरेंद्र सिंह अपने घर के बाहर ही सोते थे। लिहाजा अपराधियों के लिए घटना को अंजाम देकर फररा होने में कुछ अधिक मुश्किल नहीं उठानी पड़ी। घर के बार अपराधियों की गोली से घायल हुए सिंह को अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन उनकी जान नहीं बच सकी।

loading...