Breaking News
  • मोदी की बंपर जीत पर राहुल गांधी ने दी शुभकामनाएं
  • अमेठी सीट से हारे राहुल गांधी, वायनाड से मिली जीत
  • मोदी ने अपने समर्थकों के साथ सरकार बनाने का दावा पेश किया
  • सर्वसहमति से NDA विधायक दल के नेता चुने गए नरेंद्र मोदी
  • राहुल गांधी ने CWC के सामने इस्तीफे की पेशकश की, लेकिन सदस्यों ने ठुकराया: कांग्रेस
  • अमेठी में स्मृति ईरानी के करीबी कार्यकर्ता सुरेंद्र सिंह की गोली मारकर हत्या
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव 2019: NDA को प्रचंड बहुमत, 300 से अधिक सीटों पर बीजेपी की जीत
  • 24 मई: आज भंग हो सकती है 16वीं लोकसभा, पीएम मोदी की अध्यक्षता में केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक

पाकिस्तान अभिनंदन को नहीं लौटाता तो वो रात उसके लिए 'कत्ल की रात' होती

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव के सियासी महासमर में सत्तासीन बीजेपी के सबसे बड़े चेहरे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कांग्रेस समेत तमाम विरोधियों पर हमलावर रूख अख्तियार कर रहे हैं। इस कड़ी में रविवार को पीएम मोदी अपने गृह राज्य गुजरात के पाटन में एक जनसभा को संबोधित करते हुए सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक का भी जिक्र किया।

वहीं पाकिस्तान से भारत लौटे विंग कमांडर अभिनंदन को लेकर मोदी ने दावा किया कि अगर पाकिस्तान हमारे पायलट को नहीं लौटाता तो वह उसके लिए 'कत्ल की रात' होती। मोदी के मुख से ये बात निकने की देर थी कि सभा में मौजूद लोग मोदी-मोदी के नारे लगने लगे। नारे की शोर ऐसी थी, जिसमें मोदी की बुलंद आवाज भी गुम रह गई। साथ ही पीएम ने इस दौरान लोगों से अपने उम्मीदवार के समर्थन में मतदान की भी अपील की है।

रैली में मौजूद लोगों से अपील करते हुए मोदी ने कहा कि, मेरे गृह राज्य के लोगों का कर्तव्य है कि वे ‘धरती पुत्र’ की देखभाल करें। उन्होंने कहा कि, गुजरात की सभी 26 सीटें मुझे दीजिए। पीएम ने दावा करते हुए कहा कि, मेरी सरकार सत्ता में वापस आएगी लेकिन अगर गुजरात ने बीजेपी को 26 सीटें नहीं दी तो 23 मई को टीवी पर चर्चा होगी कि ऐसा क्यों हुआ।

इस दौरान पीएम ने आतंकवाद के खिलाफ लाड़ाई को अपनी प्राथमिकता बताते हुए कहा कि प्रधानमंत्री की कुर्सी रहे या ना रहे लेकिन हमने फैसला किया है कि या तो हम जिंदा रहेंगे या आतंकवादी जिंदा बचेंगे। दुनिया भर में भारत की बढ़ती ‘गौरव गाथा’ का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि, अर्जेंटीना में जी20 की समिट थी, इसमें एक मीटिंग थी- रूस, चीन और भारत की। दूसरी मीटिंग थी- अमेरिका, जापान और भारत की लेकिन इन सभी मीटिंग में खास बात यह थी कि इनमें भारत शामिल था।

loading...