Breaking News
  • बिहार : निर्दलीय विधायक अनंत सिंह को 2 दिन की ट्रांजिट रिमांड पर भेजा गया
  • आज दोपहर 2.30 बजे होगा निगमबोध घाट पर जेटली का अंतिम संस्कार
  • पूर्व वित्त मंत्री अरूण जेटली का निधन, बीजेपी मुख्यालय में अंतिम दर्शन
  • पीएम मोदी ने दी बहरीन में पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली को श्रद्धांजलि

Inside Story: अवैध संबंध के कारण रोहित शेखर की हत्या, पत्नी ने ही उतारा मौत के घाट?

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रहे दिवंगत एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की मौत मामले में जैसे-जैसे पुलिस की जांच आगे बढ़ रही है, नये-नये और हैरान करने वाले खुलासे हो रहे हैं। दरअसल, यह साफ हो चुका है कि रोहित की मौत प्राकृतिक नहीं बल्कि उसकी हत्या की गई है। जिसके बाद अब एक हैरान कर देने वाला खुलासा हुआ है कि रोहित हत्या उसकी पत्नी अपूर्वा शुक्ला ने की है।

हालांकि फिलहाल न तो अपूर्वा ने अपना अपराध कबूल किया है और न ही किसी पुलिस अधिकारी ने ऐसे दावे किए हैं। लेकिन सूत्रों के हवाले से पता चला है कि पुलिस की जांच जिस दिशा में बढ़ रही है उससे ऐसा लगता है कि रोहित की हत्या उसकी पत्नी ने ही की है। बताया जाता है कि रोहित के कमरे से आखिरी बार उसकी पत्नी अपूर्वा ही निकली थी। पुलिस ने रोहित की मां और उसकी पत्नी समेत घर के नौकरों से भी पूछताछ की है।

खबरों के अनुसार रोहित की पत्नी अपूर्वा बार-बार अपना बयान बदल रही है, जिससे कारण अपूर्वा शक के दायरे में है। मामले में एक एंगल अवैध संबंध का भी बताया जा रहा है। जानकारी के अनुसार शादी के बाद से ही रोहित और अपूर्वा के बीच मधुर संबंध नहीं थे। दोनों के बीच अक्सर झगड़ा-फसाद आम बात बन गई थी। कहा जाता है कि रोहित अपने किसी रिश्तेदार की एक महिला के संपर्क में था, जिनके बीच काफी करीबी संबंध थे।

बता दें कि रोहित दिल्ली के डिफेंस कॉलोनी स्थित फ्लैट में अपनी पत्नी और मां के साथ रहते थे। रोहित की मां के अनुसार, उनका बेटा सोमवार रात बाहर से दिल्ली लौटा था। रात को वह घर पहुंचीं तो अपूर्वा ने बताया कि रोहित थका है और खाना खाकर सो गया है। इस बातचीत के दौरान ही रोहित कमरे से बाहर आ गया। उज्जवला ने बताया कि उनका बेटा हल्के नशे में था। बातचीत के दौरान रोहित ने उनका हालचाल जाना। बाद में उज्जवला ने वहां खाना खाया और करीब 11.30 बजे अपने सरकारी घर तिलक लेन के लिए निकल गईं।

गौर हो कि मंगलवार दोपहर करीब 2 बजे के करीब रोहित की मां उज्जवला वापस आईं तो अपूर्वा ने बताया कि रोहित अभी सोकर नहीं उठा है। इसके बाद उज्जवला ने भतीजे व एनडी तिवारी के पूर्व ओएसडी राजीव कुमार से मैक्स अस्पताल में अपने अंगूठे के इलाज के लिए डॉक्टर का अप्वाइंटमेंट लेने के लिए कहा। करीब 4.45 बजे का उन्हें अपाइंटमेंट मिला और उज्जवला चालक अखिलेश व राजीव के साथ मैक्स अस्पताल के लिए निकल गई।

वह अस्पताल के गेट तक ही पहुंची ही थीं कि करीब 4.30 बजे उज्जवला के पूर्व कर्मचारी रमेश का फोन आया कि रोहित की तबीयत खराब है। जिसके बाद उज्जवला खुद एंबुलेंस लेकर घर पहुंचीं, इस दौरान अपूर्वा पति को कार में लिटा रही थी। जिसके बाद रोहित को मैक्स अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे डेड बताते हुए कहा कि उसकी मौत अस्पताल लाने से पहले ही हो गई थी।

इससे पहले घर का नौकर रोहित को उसके कमरे में खाना देने पहुंचा था। तभी उसने देखा की रोहित बिस्तर पर गिरा है, उसके मुंह से खून निकल रहे हैं। जिसके बाद उसने इसकी सूचना अन्य लोगों को दी। रोहित के पोस्टमार्टम रिपोर्ट से यह साफ हो चुका है कि उसकी हत्या मुंह दबा कर की गई है। मामले में रोहित की पत्नी की भूमिका संदिग्ध दिख रही है।

बताया जाता है कि रोहित की मौत के बाद उसके मोबाइल से करीब पांच-छह कॉल कुमकुम को किया गया था। हालांकि ये कॉल किसने और क्यों किया, इसकी जांच की जा रही है। मामले की जांच कर रही पुलिस की टीम ने रोहित की पत्नी अपूर्वा के अलावा सौतेले भाई सिद्धार्थ, उज्जवला के कजन राजीव, उसकी पत्नी कुमकुम, घर के नौकर मारथा से भी काफी देर पूछताछ की है। ऐसे में पुलिस राजीव और उसकी पत्नी कुमकुम से पूछताछ की।

loading...