Breaking News
  • चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट में आज चार नए जजों को दिलाई शपथ
  • ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम की सफलता पर भड़का पाकिस्तान
  • आर्मी चीफ बिपिन रावत का बयान, पाकिस्तान ने बालाकोट में आतंकी कैंपों को फिर से सक्रिय कर दिया है
  • गृह मंत्री ने कहा कि कहा कि 2021 की जनगणना में मोबाइल एप का प्रयोग होगा

चलती ट्रेन में पुलिसकर्मी और महिला में मारपीट, पूरी खबर पढ़कर हिल जाएंगे

मुरादाबाद: जीआरपी मुरादाबाद को चलती ट्रेन में युवती के साथ पुलिसकर्मी द्वारा मारपीट की ख़बर मिलते ही मुरादाबाद रेलवे स्टेशन पर हड़कंप मच गया। दरअसल, मुरादाबाद रेलवे कंट्रोल रूम को चलती ट्रेन से युवती ने कॉल कर बताया कि उसके साथ एक पुलिसकर्मी ने मारपीट की है।

वह दिल्ली आनंद विहार से चलकर गाजीपुर जाने वाली ट्रेन सुहेलदेव एक्सप्रेस के एसी कोच में सवार है युवती की सूचना मिलते ही रेलवे कंट्रोल रूम में इसकी खबर राजकीय रेलवे पुलिस आरपीएफ कमांडेंट को दी जिसके बाद रेलवे स्टेशन को  पुलिस ने प्लेटफार्म नंबर एक की घेराबंदी कर दी और ट्रेन आते ही आरोपी युवक को हिरासत में लेकर ट्रेन से उतार लिया।

आपको याद होगा पिछले वर्ष सोशल मीडिया पर एक वीडियो बहुत तेज़ी से वायरल हुआ था, जिसमें एक युवती लाइन लगाए लोगो से एक मॉल के आगे ईद के दिन गले मिलकर उन्हें ईद की मुबारकबाद दे रही है। और लोग उस लड़की से ईद मिलन के लिए लाइन में खड़े होकर अपनी बारी का इंतेज़ार कर रहे हैं।

उसी वायरल वीडियो की लड़की ने आज कंट्रोल रूम को कॉल कर ट्रेन में एक पुलिसकर्मी द्वारा उसके साथ मारपीट करने का आरोप लगाकर हड़कंप मचा दिया। दिल्ली आनंद विहार से उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जाने वाली सुहेलदेव एक्सप्रेस ट्रेन के कोच संख्या 7 में यात्रा कर रही वायरल वीडियो की लड़की ने अपने साथ सीट पर बैठने को लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस के जवान शहजाद अली द्वारा उसके साथ मारपीट करने का आरोप लगाया।

लड़की का आरोप है कि शहजाद अली ने सीट पर बैठ कर अपना सामान रख दिया और जब उसने विरोध किया तो शहज़ाद अली ने उसका गला दबा दिया और उसे धमकी दी कि वह उसे जानती नहीं है वह पुलिस में है। युवती का आरोप है उसने अपने मोबाइल फोन से वीडियो बनाने की कोशिश की तो उसे वीडियो बनाने नही दी, इस बीच विवाद बढ़ता ही गया।

वहीं ट्रेन जैसे ही मुरादाबाद पहुंची तो राजकीय रेलवे पुलिस ने आरोपी पुलिसकर्मी को ट्रेन से उतार लिया और हिरासत में लेकर जीआरपी थाने पहुंच गये, लेकिन यहां तो मामला ही उल्टा निकला, जब पुलिस ने ट्रेन की बोगी में सवार अन्य यात्रियों से बातचीत की, तो सबने ये ही बताया के युवती की ही गलती है, और हिरासत में लिए गए पुलिस कर्मी की कोई गलती नहीं है।

इतना सुनते ही वायरल वीडियो वाली लड़की रोने लगी, उसने मीडिया से बात करते हुये कहा कि ट्रेन की बोगी में 100 से ज़्यादा यात्री सवार थे, लेकिन किसी ने उसे बचाया नही। युवती पुलिस के सामने रो-रोकर अपने साथ हुई घटना के बारे में बताते हुये आरोपी के खिलाफ कार्यवाही की मांग करने लगी, वहीं हिरासत में लिए गए पुलिसकर्मी के पक्ष में अन्य यात्रियों ने भी बयान दिए तब युवती के परिजनों द्वारा समझाने पर युवती ने रिपोर्ट दर्ज कराने से इंकार कर दिया और समझौतानामा लिखकर पुलिस को दे दिया।

एक तो आरोप लगाने वाली युवती के पास ट्रेन में यात्रा के लियें जनरल बोगी का टिकट था और ट्रेन में यात्रा कर रहे आरोपी पुलिसकर्मी शहजाद अली के पास रिजर्वेशन टिकट था, युवती  व आरोपी पुलिसकर्मी के बीच सीट पर बैठने को लेकर बहस हो गई थी, इसी दौरान बात हंगामे से बढ़कर मारपीट तक पहुंच गई। फिलहाल पुलिस ने आरोप लगाने वाली युवती द्वारा समझौता नामा देने पर हिरासत में लिए गए पुलिसकर्मी को बिना किसी कार्रवाई के गाजीपुर जाने दिया।लेकिन इस सब हंगामे के बीच एक बात सामने आई की कहीं न कहीं महिलायें सरकारों द्वारा उनको कानून में दी जाने वाली सहुलतो का दुरपयोग करने से गुर्रेज नही कर रहीं हैं।

loading...