Breaking News
  • चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट में आज चार नए जजों को दिलाई शपथ
  • ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम की सफलता पर भड़का पाकिस्तान
  • आर्मी चीफ बिपिन रावत का बयान, पाकिस्तान ने बालाकोट में आतंकी कैंपों को फिर से सक्रिय कर दिया है
  • गृह मंत्री ने कहा कि कहा कि 2021 की जनगणना में मोबाइल एप का प्रयोग होगा

आखिर कुत्तों ने कैसे ले ली हिरण की जान

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के खोराबार थाना क्षेत्र के वन टांगिया जंगल में कुत्तों ने हिरण को अपना शिकार बना लिया। कुत्तों के हमले में घायल हुए हिरण ने तड़प-तड़प कर मौके पर ही दम तोड़ दिया। लोगों की माने तो आए दिन हिरण पानी की तलाश में टांगिया जंगल में झुंड में आते हैं। इसी बीच सुबह कुत्तों ने हिरण के झुंड पर हमला कर दिया जिससे एक हिरण झाड़ियों में फंस गया और कुत्तों का शिकार बन गया।

वही रजही  गांव के प्रधान रणविजय सिंह मुन्ना की माने तो जंगल में जानवरों के लिए कोई भी पानी की व्यवस्था नहीं की गई है। जिससे जानवर घूमते हुए गांव की तरफ चले आते हैं। उन्होंने बता कि सुबह करबी चार बजे के आसपास हिरण का एक झुंड पानी की तलाश में वन टांगिया गांव की तरफ आया था। जहां मौजूद कुत्तों ने हिरण को शिकार बना लिया।

राजहि के जंगल में जानवरों के लिए पानी की कोई भी व्यवस्था वन विभाग द्वारा नहीं की गई है जिससे जंगली जानवर पानी की तलाश में इधर-उधर भटकते हैं।स्थानिय लोगों की माने तो इस पूरे मामले में प्रशासन की घोर लापरवाही दिख रही है। भीषण गर्मी में जहां इंसानों की हालत खराब है, जरा सोचिए जंगल में रहने वाले अनबोलता जानवार किस हालत में जीवन यापन कर रहे हैं।

आपको बता दें कि हिरण उन जंगली जानवरों में सुमार है, जिसकी काफी तम प्रजातियां अब धरती पर बची है। ऐसे में प्रशासन की ओर से इनके रख-रखाव के लिए जरूर इंतेमान करनी चाहिए। लेकिन स्थानिय लोगों का आरोप है कि आरोप लगने के बाद भी वन विभाग के ढुलमुल रवैये में कुछ खास सुधार होता नहीं दिख रहा है।

loading...